बुधवार, अक्तूबर 13, 2010

जवान बने रहने के नुस्खे


लंबे समय तक यंग बने रहने की चाह हर किसी की होती है। लोगों की इसी चाह को पूरा करने के लिए कंपनियां यंग बनाए रखने वाले कई तरह के इंजेक्शन व सर्जरी समय- समय पर प्रेजेंट करती रहती हैं। इसी कड़ी में हाल ही में एक ऐसी दवा ईजाद की गई है, जो आपको लंबे समय तक यंग बनाए रख सकती है।
दो साल बाद बढ़ती उम्र आपकी मुट्ठी में होगी। आप सोच रहे होंगे कि आखिर कैसे? तो हम आपको बता दें कि साल 2012 तक बढ़ती उम्र को रोकने के लिए आपको किसी पैक या इंजेक्शन लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, बल्कि आपको यंग बनाए रखने वाली दवाएं आपके आसपास केमिस्ट की दुकानों में ही मिलनी शुरू हो जाएंगी। होली ग्रैलेन नाम की इस पिल को बनाने वाले मास्को यूनिवर्सिटी के प्रफेसर ब्लादीमिर स्कुलाचेव का कहना है कि यह दवा बॉडी सेल्स पर ऑक्सिजन के डैमेजिंग इफेक्ट को रोककर रखती है। इससे बढ़ती उम्र के साथ आने वाली बीमारियां आपके पास नहीं फटकती, जिससे जाहिर है कि आप लंबे समय तक यंग बने रह सकते हैं।
नोबेल प्राइज विनर डॉ. गुंटर ब्लोबेल का मनाना है कि बढ़ती उम्र के लिए ऑक्सिडेटिव डैमेज बड़ा फैक्टर है और अभी तक ऐसा एंटी- ऑक्सीडेंट डिवेलप नहीं किया गया था। असल में हमारे शरीर में जो सेल्स हैं, उन्हें एनर्जी एक्सचेंज प्रोसेस के दौरान ऑक्सिजन की जरूरत पड़ती है। लेकिन ऑक्सिजन शुद्ध होना बेहद जरूरी है, क्योंकि अगर यह ऐक्टिव या जहरीले फॉर्म में होगी, तो सेल्स को नष्ट भी कर सकती है। दरअसल, नेचरल एंटी- ऑक्सीडेंट्स इस प्रोसेस को स्लो तो कर डालते हैं, लेकिन इसका कोई लंबा प्रभाव नहीं रहता।
वहीं स्कुलाचेव के मुताबिक, 99 पर्सेंट मौकों पर ऑक्सिजन हार्मलेस वॉटर में बदल जाता है, लेकिन मात्र 1 पर्सेंट सुपर- ऑक्साइड में बदलता है और यही बाद में नुकसानदेह बन जाता है। इसीलिए किसी ऐसे एंटी- ऑक्सीडेंट को ढूंढने की जरूरत थी, जो इस प्रोसेस को रोक सके। पूरे 40 सालों की कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने खास एंटी- ऑक्सीडेंट्स क्रिएट किए और इन्हें 'स्कुलाचेव्स आयन्स' नाम दिया। ये हमारे सेल्स के भीतर के ऑक्सिजन के डैंजरस फॉर्म को न्यूट्रलाइज कर देते हैं। स्कुलाचेव का कहना है कि किसी तरह के साइड इफेक्ट से बचाने की कोशिश इस प्रोसेस का सबसे मुश्किल हिस्सा है। इसलिए वह क्लिनिकल टेस्टिंग को दो साल और देना चाहते हैं। इसमें हिस्सा लेने के लिए हजारों लोगों ने खुद को रजिस्टर कराया है।
खैर , किसी चमत्कारी मेडिसिन की तलाश अलग बात है और अगर ऐसी दवाई खोज भी ली गई , तो वह कितनों तक पहुंच पाएगी , यह सोचने की बात है ! फिर क्यों न हम कोई ऐसा उपाय तलाशें , जो हम सबके वश में हो। आइए आपको बताते हैं कुछ ऐसे कारगर टिप्स , जो आपको लंबे समय तक यंग बनाए रख सकते हैं :
खुश रहें
एक स्टडी के बाद पता चला है कि अगर आप खुश रहते हैं तो किसी गंभीर बीमारी के हो जाने के बाद भी जल्दी ठीक हो सकते हैं। सीनियर फिजीशियन डॉ . वरुण मेहरा बताते हैं , ' आपका स्ट्रेस लेवल आपकी इम्यूनिटी को सीधा प्रभावित करता है। अपनी जिंदगी में उन चीजों की जगह बनाइए , जिनका साथ आप पसंद करते हैं। मेडिटेशन और एक्सरसाइज कीजिए , इससे तनाव कम होता है। हंसने का कोई भी मौका मत चूकिए , क्योंकि त्यौरियां चढ़ाने से स्किन में रिंकल्स पड़ जाते हैं।
फल - सब्जियां खाएं
रिसर्च से साबित हो गया है कि टॉक्सिंस और मेटाबॉलिज्म की वजह से हुआ ऑक्सीडेटिव डैमेज सेल्युलर लेवल पर एजिंग प्रोसेस को बढ़ावा देता है। लेकिन हाई एंटीऑक्सीडेंट्स फूड्स हमें इससे बचाते हैं। इसलिए खूब सारी सब्जियां और फल अपनी डाइट में शामिल करें। फलों से मिलनेवाले विटामिन सी से स्किन यंग बनी रहती है और आप डिहाइड्रेशन से भी बचे रहते हैं। याद रखिए कि यही काम फूड सप्लीमेंट्स नहीं कर सकते।
शुगर को ना - ना
अगर आपको शुगर है , तो उसे एक्सरसाइज और डाइट से कंट्रोल करके चलें। अगर शुगर का बैलेंस नहीं रह पाता है , तो इसका सीधा असर आपकी उम्र पर पड़ता है।
नींद हो पूरी
कितने घंटे सोया जाए , यह हर इंसान के लिए अलग हो सकता है। लेकिन 6 से 8 घंटे की नींद सबके लिए जरूरी है। लेकिन दिनभर खर्राटे भरना भी ठीक नहीं है। क्योंकि रिसर्च के बाद यह भी साबित हो गया कि ज्यादा सोने से उम्र घटती है।
सनस्क्रीन प्रोटेक्शन
बिना सनस्क्रीन और सनग्लासेज के खुली धूप में मत घूमिए। दरअसल , यूवी रेडिएशन आपकी स्किन के लिए बेहद नुकसानदेह होती हैं।
धुएं में न उड़ाएं
स्मोकिंग कम उम्र में आपको एजेड दिखाने लगता है। यही नहीं , यह उम्र को भी कम कर देता है। इसलिए प्राइमरी या सेकंडरी - किसी भी लेवल पर स्मोकिंग से दूरी बनाकर रखिए।
मेंटल एक्सरसाइज
आपको यंग बनाए रखने में मेंटल कंडिशन का रोल अहम होता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप सारा दिन क्रॉसवर्ड और पजल्स में उलझें रहें। न्यूरोसाइंटिस्ट और कॉग्निटिव एजिंग स्पेशलिस्ट डॉ . एडम गैजली का कहना है कि 60 की उम्र के बाद भी अगर आप ट्रैवलिंग और नई लैंग्वेज सीखने को इंजॉय करते हैं , तो मेंटली फिट रहते हैं।
ऑलिव ऑयल
इसमें हेल्दी फैट्स होते हैं। बैड फैट्स से बचने और हेल्दी हार्ट के लिए इसे आज ही अपनी डाइट में शामिल करें।
टीवी से दुश्मनी
कोई न कोई शो सबको पसंद होता है। लेकिन अगर आप हफ्ते में कम से कम पांच घंटे टीवी देखते हैं और सोफे में ही चिपके रहते हैं , तो आप सोच सकते हैं कि आपके हेल्थ की क्या हालत होगी। हालत ठीक नहीं होगी , तो नैचरल आप भी फिट नहीं रह सकते।
राइट डाइट
साबुत अनाज खाइए। अंकुरित दालें हेल्थी रहने के लिए बेहतर ऑप्शन है। हेल्थ ठीक रहेगी , तो नैचरल आप लंबे समय तक यंग बने रह पाएंगे। हर रोज बादाम खाने की आदत डालिए। बादाम में विटामिन , मिनरल और एंटी - एजिंग फैट्स होते हैं और इसे खाने से भूख भी चली जाती है। ओवर ईटिंग की सिचुएशन न आने दें।
साभार - नभाटा

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें